हर आदमी की अपनी एक कहानी है।

एक बार एक 22 साल का लड़का और उसके पिता रेलगाड़ी में सफ़र कर रहे थे । लड़का बार-बार train की खिड़की से झाँक रहा था और बाहर पेड़ पौधों को देखकर जोर-जोर से चिल्ला रहा था और रोमांचित हो रहा था । 
पास ही में बैठे दो व्यक्ति यह सब देखकर हंस रहे थे ।
तभी उस लड़के ने अपने पिता से कहा ! देखो पापा बाहर असमान में बादलों को देखो वह भी हमारे साथ दौड़ लगा रहे हैं । यह सब देखकर उस में से एक व्यक्ति को सहन नहीं हुआ और वह उस लड़के के पिता से बोले ! आप अपने बेटे को किसी डॉक्टर को क्यों नहीं दिखाते ?
यह सुनकर उस लड़के की मां ने कहा! हाँ , हम डॉक्टर के पास से ही तो आ रहे हैं । दरसल मेरा बेटा जन्म से ही देख नहीं सकता था पर आज उसने अपनी आँखों से पहली बार यह रंग बिरंगी दुनिया को देख पा रहा है और आज इसीलिए वह बहुत खुश है । 
जवाब सुनकर वह व्यक्ति चुप हो जाता है।

दोस्तों हर व्यक्ति के जीवन में एक कहानी है । हमें इस कहानी से यह शिक्षा मिलती है कि किसी भी व्यक्ति के विषय में पूरी जानकारी न होने पर उसके विषय में टिप्पणी नहीं करना चाहिए ।

Post a Comment

0 Comments